भारत में नई बाइक और कारें

फॉक्सवैगन एमियो 1.2-लीटर पेट्रोल का रिव्यू

फोटो देखें
फॉक्सवैगन एमियो

फॉक्सवैगन ने सब-कॉम्पैक्ट सेडान सेगमेंट में अपनी नई कार एमियो को लॉन्च कर दिया है। कंपनी के मुताबिक इस कार को भारतीय ग्राहकों और भारतीय बाज़ार को ध्यान में रखकर तैयार किया गया है। लेकिन, सब-कॉम्पैक्ट सेडान सेगमेंट में प्रतिस्पर्धा काफी जबरदस्त है।

इस सेगमेंट में पहले से ही मारुति सुजुकी स्विफ्ट डिजायर, होंडा अमेज़, ह्युंडई एक्सेंट और टाटा जेस्ट जैसी कारों ने अपना दबदबा बना रखा है। ऐसे में फॉक्सवैगन एमियो की एंट्री के बाद इस सेगमेंट में मुकाबला और रोचक होने वाला है। हमने फॉक्सवैगन एमियो को ड्राइव किया और ये जानने की कोशिश की कि ये कार अपने मुकाबले की कारों को किस किस मामले में टक्कर दे सकती है।
 

फॉक्सवैगन एमियो- रियर प्रोफाइल


फॉक्सवैगन एमियो दिखने में पोलो की तरह नज़र आती है जिसमें बूट स्पेस का फर्क है। फॉक्सवैगन एमियो कंपनी का पहला मेड-इन-इंडिया प्रोडक्ट है। कार का डिजाइन काफी साफ--सुथरा है जो लोगों को आकर्षित कर सकता है।
 

फॉक्सवैगन एमियो- साइड प्रोफाइल

फिलहाल, फॉक्सवैगन एमियो 1.2-लीटर MPI पेट्रोल इंजन के साथ उपलब्ध है। ये इंजन 73 बीएचपी का पावर और 110Nm का टॉर्क देता है। इस सेगमेंट के लिए ये इंजन काफी है। फॉक्सवैगन ये भी ऐलान किया है कि इस कार का डीज़ल इंजन डीएसजी (DSG) से लैस होगा जो परफॉरमेंस के मामले में 'पॉकेट रॉकेट' होगा। लेकिन, पेट्रोल इंजन में 'पॉकेट रॉकेट' जैसी कोई बात नहीं दिखती। 2000 से लेकर 2500rpm तक इंजन का परफॉरमेंस अच्छा है। लेकिन, 2000rpm से नीचे आने के बाद इस इंजन से कुछ खास फीडबैक नहीं मिलता।
 

फॉक्सवैगन एमियो- केबिन


वहीं, 3000rpm को पार करने के बाद ये इंजन थोड़ा आवाज़ करने लगता है। कार का गियरशिफ्ट फॉक्सवैगन की बाकी कारों की तरह स्मूथ है। कार में 15-इंच का टायर लगा है जिसका इस्तेमाल फॉक्सवैगन पोलो में भी किया जाता है। कार में लगे टायर कॉर्नर पर अच्छा ग्रिप देते हैं। ग्राउंड क्लियरेंस भी फॉक्सवगैन पोलो के बराबर ही है। पावर में कमी की वजह से कार का माइलेज अच्छा है और फॉक्सवैगन ने माइलेज के मामले में बाजी मारी है। कार का माइलेज 17.83 किलोमीटर प्रति लीटर है।
 

फॉक्सवैगन एमियो- इंजन


कार में बड़ा एयर डैम, हैलोजेन हेडलैंप लगाया गया है। 'ब्लू सिल्क' कलर में कार की खूबसूरती निखर कर सामने आती है। कार का साइड पैनल भी काफी साधारण है। कार के पिछले हिस्से पर नज़र डालें तो आपको एक नया लुक देखने को मिलेगा। कार की केबिन भी काफी हद तक पोलो और वेंटो की तरह ही है। लेकिन, एमियो की केबिन में सबसे बड़ा बदलाव फ्लैट-बॉटम स्टीयरिंग व्हील है जो आमतौर पर किसी कार के स्पोर्टी वेरिएंट में देखने को मिलता है। कार का व्हीलबेस भी फॉक्सवैगन पोलो के बराबर ही है वहीं, इसका बूट स्पेस 330-लीटर का है।

कार में दिए गए कई फीचर्स इस सेगमेंट की कारों में पहली बार दिया गया है जो इस कार की सबसे खास बात है। कार में क्रूज़ कंट्रोल, ऑटोमेटिक रेन सेंसिंग वाइपर, वन टच ऑपरेशन पावर विंडो जैसे फीचर्स इसे खास बनाते हैं। इसके अलावा कार में रियर एसी वेंट और फ्रंट सेंटर आर्मरेस्ट भी लगाया गया है जो इस सेगमेंट में पहली बार किसी कार में देखने को मिला है।
 

फॉक्सवैगन एमियो- इंस्ट्रूमेंट क्लस्टर


इसके अलावा कार में टचस्क्रीन मल्टी-मीडिया म्यूजिक सिस्टम, आई-पॉड कनेक्टिविटी, फोनबुक/एसएमएस व्यूअर, ऑटोमेटिक एसी, इलेक्ट्रॉनिक एडजस्टेबल ओआरवीएम, कूल्ड ग्लव बॉक्स, टिल्ट-टेलिस्कोपिक स्टीयरिंग व्हील और रियर एसी वेंट शामिल है। कार को डाइवर और पैसेंजर साइड एयरबैग (स्टैंडर्ड), एबीएस (स्टैंडर्ड) और पार्किंग सेंसर के साथ रियर व्यू कैमरा जैसे सेफ्टी फीचर्स से भी लैस किया गया है।

फॉक्सवैगन एमियो की कीमत ने काफी प्रभावित किया है। बाकी कंपनियों के पेट्रोल वेरिएंट की तुलना में फॉक्सवगैन ने बाजी मारी है। फॉक्सवैगन एमियो के बेस वेरिएंट की कीमत 5.14 लाख रुपये है वहीं टॉप-एंड वेरिएंट की कीमत 7.05 लाख रुपये (दोनों एक्स-शोरूम, मुंबई) है। अब इस कार के डीज़ल वेरिएंट का इंतज़ार है। अब देखना ये होगा कि फिलहाल सब-कॉम्पैक्ट सेगमेंट में फॉक्सवैगन एमियो कितनी तेज़ी से अपनी पकड़ बना पाती है।

डायमेंशन-

लंबाई- 3995mm
चौड़ाई- 1682mm
ऊंचाई- 1483mm
व्हीलबेस- 2470mm
ग्राउंड क्लियरेंस- 165mm
बूट स्पेस- 330 लीटर

स्पेसिफिकेशन-

इंजन- 1.2-लीटर MPI पेट्रोल
पावर: 73 बीएचपी
टॉर्क: 110Nm
ट्रांसमिशन: 5-स्पीड मैनुअल
माइलेज: 17.83 किलोमीटर प्रति लीटर

0 Comments

फोटो: पवन डागिया
Be the first one to comment
Thanks for the comments.