भारत में नई बाइक और कारें

टेस्ला ने साल में दूसरी बार घटाई मॉडल 3 की कीमत, बेहद हाईटेक है इलैक्ट्रिक कार

इस साल टेस्ला ने मॉडल 3 की कीमत में दो बार कटौती की है जिसके बाद कार के सबसे सस्ते वेरिएंट की कंपनी की वेबसाइट के अनुसार 42,900 डॉलर हो गई है.

फोटो देखें
इस साल टेस्ला ने मॉडल 3 की कीमत में दो बार कटौती की है

इलैक्ट्रिक कारें बनाने वाली कार कंपनी टेस्ला ने मॉडल 3 की कीमत में दोबारा कटौती की है और कंपनी के प्रवक्ता का कहना है कि कॉस्टली कस्टमर रैफेरल प्रोग्राम को समाप्त करते हुए कंपनी ने कार की कीमत को 1,100 डॉलर कम कर दिया है. इस साल टेस्ला ने मॉडल 3 की कीमत में दो बार कटौती की है जिसके बाद कार के सबसे सस्ते वेरिएंट की कंपनी की वेबसाइट के अनुसार 42,900 डॉलर हो गई है. टेस्ला के चीफ एग्ज़िक्यूटिव ऑफिसर एलोन मस्क ने ट्विट कर कहा था कि रैफेरल प्रोग्राम से टेस्ला कारों की कीमत काफी ज़्यादा हो गई है खासतौर पर टेस्ला मॉडल 3 की कीमत, ऐसे में कंपनी ने मस्क के ट्विट के बाद 1 फरवरी से रैफेरल प्रोग्राम को खत्म कर दिया.

टेस्ला ने मॉडल 3 को 3 वेरिएंट्स में उपलबध कराया है जिनमें पहला कार का एंट्री लेवल मॉडल है जो सिंगल-मोटर विकल्प के साथ आता है. इसकी रेन्ज एक चार्ज में 400 किमी है. डुअल-मोटर की रेन्ज ज़्यादा है और ऑल-व्हील ड्राइव पर यह कार 500 किमी तक चलती है और महज़ 3.4 सेकंड में ही 0-100 किमी/घंटा की रफ्तार पकड़ लेती है, इसके साथ ही कार की टॉप स्पीड 250 किमी/घंटा है. हमें इस कार के डुअल-मोटर वेरिएंट को चलाने का मौका मिला है और इसके पीछे लगे बैज से कार के मॉडल की पहचान होती है. कार को शानदार और हाईटेक केबिन से लैस किया गया है और 19-इंच के अलॉय व्हील्स पर ये कार चलती है.

टेस्ला मॉडल 3

₹ 75 लाख *
( अनुमानित कीमत )
लॉन्च का समय (अनुमानित) : Nov 2021

मॉडल 3 के केबिन में टेस्ला ने पिछले सभी मॉडलो से अच्छा और एडवांस केबिन दिया है. कार का डैशबोर्ड काफी साफ है और इसपर लगा बड़े आकार का स्क्रीन अपने आप में ढ़ेर सारे फीचर्स से लैस है जो सेंट्रल कंसोल को सुपर-एडवांस बनाता है. यह स्क्रीन लगभग आईप्रो जैसा है और आईपैड के सबसे बड़े मॉडल से भी बड़ा है. कार का केबिन वैसे तो प्लास्टिक फिनिश में आता है, लेकिन आप चाहें तो इसे वुड, कार्बन फाइबर कलर थीम में पा सकते हैं.

0 Comments

टेस्ला मॉडल 3 में ट्रैक मोड और स्लिप-स्टार्ट मोड दिया गया है जिससे बर्फ या चिकनी जगह पर इसे आसानी ने स्टार्ट किया जा सकता है. कार के ट्रैक्शन कंट्रोल को भी इसी हिसाब से ढ़ाला जा सकता है. फिलहाल हम यह कार सिर्फ सड़क और छोटे हाईवे पर चला पाए हैं, लेकिन इतना ही यह कहने के लिए काफी है कि यह एक शानदार कार है. भारत में टेस्ला संभवतः जल्द एंट्री ले सकती है और भारत में इस कार को सुपरचार्जर की ज़रूरत भी नहीं होगी, इसे सामान्य 3-पिन चार्जर से चार्ज किया सकता है.

Be the first one to comment
Thanks for the comments.