भारत में नई बाइक और कारें

टाटा मोटर्स ने पिछले 3 महीने से नहीं बनाई एक भी नैनो, जानें और क्या कहती है रिपोर्ट

PTI की रिपोर्ट के अनुसार टाटा ने पिछले तीन महीने में एक भी नैनो नहीं बनाई और मार्च 2019 में नैनो की एक भी यूनिट ना तो बेची है और ना निर्यात की है.

फोटो देखें
टाटा ने पिछले तीन महीने में एक भी नैनो नहीं बनाई

टाटा मोटर्स ने भारत में अपनी सबसे सस्ती कार टाटा नैनो का उत्पादन पिछले तीन महीने से बंद कर रखा है. पीटीआई की रिपोर्ट के अनुसार कंपनी ने पिछले तीन महीने में एक भी टाटा नैनो नहीं बनाई और टाटा ने मार्च 2019 में नैनो की एक भी यूनिट नहीं बेची है. कंपनी अभी इस बात का फैसला नहीं कर पाई है कि नैनो का भविष्य क्या होगा. बता दें कि आगामी क्रैश टेस्ट नियम काफी सख्त होंगे जिसमें खरा उतरने के लिए नैनो के पूरे प्रारूप को दोबारा डिज़ाइन करना होगा. पिछली रिपोर्ट में सामने आया था कि कंपनी नए सेफ्टी और एमिशन नॉर्म्स के चलते अगले साल अप्रैल से इस कार का उत्पादन और बिक्री बंद कर सकती है. पिछली रिपोर्ट की मानें तो टाटा मोटर्स की पैसेंजर व्हीकल के प्रेसिडेंट मयंक परीक ने कहा था, हम सभी वाहनों को अपग्रेड नहीं कर पाएंगे जिनमें से एक टाटा नैनो भी है.

ये भी पढ़ें : टाटा मोटर्स अप्रैल 2019 से करेगी वाहनों की कीमत में इज़ाफा, ₹ 25,000 तक बढ़ेंगे दाम

टाटा नैनो को कॉम्पैक्ट 5-डोर हैचबैक के रूप में लॉन्च किया गया था जिसे 2009 में काफी पसंद किया गया और इसे लखटकिया यानी 1 लाख रुपए की कार के रूप में लॉन्च किया गया. चायपत्ती से स्टील तक के इस टाटा ग्रुप के पुराने बॉस रतन टाटा का यह सपना ही था कि मध्यमवर्गीय परिवार तक इस सस्ती कार को पहुंचाया जा सके. एनालिस्ट का भी मानना था कि ऐसे मध्यम वर्गीय परिवारों के लिए यह कार काफी कारगर होगी और कुछ ही समय में यह दुनिया की सबसे सस्ती कार के रूप में पॉपुलर हो गई. शायद यह टैग ही कार के ना बिकने की वजह बना और कार ने बिक्री के मामले में बेहतर प्रदर्शन नहीं किया.

ये भी पढ़ें : टाटा टिआगो फेसलिफ्ट भारत में टेस्टिंग के वक्त स्पॉट, जानें कबतक होगी लॉन्च

0 Comments

टाटा मोटर्स ने कई ऐसे हाईप्रोफाइल केस देखे जहां इस कार के अगले हिस्से में टक्कर के बाद इंजन में आग लग गई. जगुआर लैंड रोवर के मालिकाना हक वाली टाटा ने इस कार की 25,000 यूनिट हर महीने बेचने का अनुमान लगाया था और कुछ ही सालों में यह आंकड़ा कुछ सौ पर आकर अटक गया. 2013 में कंपनी ने इस कार को अपडेट करके लॉन्च किया लेकिन अगले ही साल नैनो और भारत की कई और छोटी कारें इंडिपेंडेंट क्रैश टेस्ट में फेल हो गईं. टाटा मोटर्स के एक प्रवक्ता ने बताया कि टाटा नैनो को अपडेट करके दोबारा लॉन्च किया जाएगा या फिर इस कार को बंद कर दिया जाएगा, इसपर अंतिम निर्णय लिया जाना अभी बाकी है.

Be the first one to comment
Thanks for the comments.