भारत में नई बाइक और कारें

रेनॉ ट्राइबर AMT टेस्टिंग के वक्त भारत में हुई स्पॉट, कार में किए गए मामूली बदलाव

रेनॉ ट्राइबर को कंपनी ने निर्यात करना भी शुरू कर दिया है और कई अफ्रीकी बाज़ारों में निर्यात से दिसंबर में कंपनी की बिक्री 64.37% की बढ़ोतरी दिखाती है.

फोटो देखें
रेनॉ ट्राइबर का टेस्ट म्यूल भारत में टेस्टिंग के वक्त स्पॉट हुआ है

फ्रांस की कारमेकर रेनॉ ने भारतीय बाज़ार में ट्राइबर के ज़रिए दमदार उपस्थिति दर्ज की है. कंपनी ने सिर्फ दिसंबर 2019 में इस कार की 5,631 यूनिट बेची हैं जो इस महीने कंपनी की भारत में कुल बिक्री का लगभग आधा हिस्सा है और उम्मीद है कि जल्द लॉन्च किए जाने वाले AMT वेरिएंट से इस बिक्री में बढ़ोतरी होगी. रेनॉ ट्राइबर का टेस्ट म्यूल भारत में टेस्टिंग के वक्त हाल में स्पॉट किया गया है जो ट्राइबर रेन्ज में कंपनी के विस्तार की ओर इशारा करता है. डिज़ाइन की बात करें तो ट्राइबर AMT कार के मैन्युअल वेरिएंट जैसा ही है, लेकिन कार के बूट पर ईज़ी बार बैज लगा है.

02vp68c8डिज़ाइन की बात करें तो ट्राइबर AMT कार के मैन्युअल वेरिएंट जैसा ही है

रेनॉ इंडिया ने क्विड की तर्ज़ पर रेनॉ ट्राइबर को समान ईज़ी आर बैज दिया है जो समान 5-स्पीड AMT गियरबॉक्स के साथ आता है. ये गियरबॉक्स 1.0-लीटर के तीन-सिलेंडर इंजन में लैस किया गया है जो 61 bhp पावर और 96 Nm पीक टॉर्क जनरेट करता है. रेनॉ क्विड में लगा इंजन 20.5 किमी/लीटर माइलेज देता है जो मैन्युअल वेरिएंट से 0.5 किमी/लीटर ज़्यादा है. रेनॉ ट्राइबर को इसी 1.0-लीटर, तीन-सिलेंडर इंजन के साथ भारत में लॉन्च किया गया था.

रेनो ट्राइबर

4.99 लाख * ऑन-रोड प्राइस (नई दिल्ली)
रेनो ट्राइबर

ये भी पढ़ें : रेनॉ ने सिर्फ 2 महीने में डिलिवर की 10,000 ट्राइबर, अक्टूबर में बढ़ी कंपनी की बिक्री

रेनॉ ट्राइबर को कंपनी ने निर्यात करना भी शुरू कर दिया है और कई अफ्रीकी बाज़ारों में इसके निर्यात से दिसंबर में कंपनी की बिक्री 64.37% की बढ़ोतरी दिखाती है. कंपनी ने अबतक घरेलू बाज़ार में ट्राइबर की 24,142 यूनिट बेच ली हैं और अब रेनॉ एसएएआरसी रीजन के साथ कई अफ्रीकी देशों में इसके निर्यात का प्लान बना रही है जहां पहले से रेनॉ क्विड बेची जा रही है.

0 Comments

सोर्स : ज़िगव्हील्स

कम्पेयर रेनो ट्राइबर मौजूदा प्रतिद्वंदियों के साथ

Be the first one to comment
Thanks for the comments.