भारत में नई बाइक और कारें

इन दो कंपनियों ने मिलकर बनाया ये अनोखा टायर, ना डलेगी हवा, ना ही होगा पंचर

टायर को अपटिस नाम दिया गया है और यह लगातार और बिना किसी बाधा की यात्रा के लिए बेहतरीन विकल्प हैं और जल्द ही इन्हें सामान्य वाहनों में पेश किया जाएगा.

फोटो देखें
मिशेलिन और जनरल मोटर्स ने नई जनरेशन का एक टायर पेश किया है

मिशेलिन और जनरल मोटर्स ने नई जनरेशन का एक टायर पेश किया है जिसमें हवा नहीं डलती, यहां तक कि यह टायर पंचर भी नहीं होता. इस टायर को अपटिस नाम दिया गया है और यह लगातार और बिना किसी बाधा की यात्रा के लिए बेहतरीन विकल्प हैं और जल्द ही इन्हें सामान्य वाहनों में पेश किया जाएगा. इस टायर को जॉइंट रिसर्च एग्रिमेंट के तहत बनाया गया है जिसके प्रोटोटाइप को मूविनऑन सम्मिट में पेश किया गया है. कंपनी का लक्ष्य है कि पैसेंजर वाहनों के लिए इन टायर्स को 2024 तक दुनियाभर में उपलब्ध कराया जाए. मिशेलिन और जीएम इस अपटिस टायर के प्रोटोटाइप को टेस्ट कर रही है और यह टेस्टिंग शेवरोले बोल्ट ईवी और इस साल के अंत तक दोनों कंपनियां बोल्ट ईवी के साथ असली सड़कों पर इस टायर की टेस्टिंग शुरू करेंगी.

nkl428t4

पंचर ना होने वाले एयरलेस टायर पर मिशेलिन पिछले 5 साल से काम कर रही है और कंपनी ने पहली बार इस टायर के 2014 में शोकेस किया था और इसे कमर्शियल इस्तेमाल के लायक बनाने के लिए कंपनी ने 50 मिलियन डॉलर का निवेश किया था. इस टायर के प्रोटोटाइप की इंजीनियरिंग आज के ज़माने की है और वाहनों के बदलते रूप के हिसाब से अपटिस बिल्कुल उपयुक्त है. चाहे वाहन ऑटोनोमस हो या इलैक्ट्रिक, सर्विस देने वाला हो या सवारी वाहन हो, इस टायर का मेंटेनेंस ज़ीरो है और इन सभी वाहनों को बिना रूके चलाते रहने के लिए ही यह टायर बनाया गया है.

ये भी पढ़ें : सुपर सोको ने लॉन्च की CUx डुकाटी लिमिटेड एडिशन इलैक्ट्रिक स्कूटर

0 Comments

अपटिस का प्रारूप अलग है और इसे दूसरे प्रकार के मटेरियल को मिलाकर बनाया गया है जिससे यह कार का भार उठाने के साथ उसी समय सड़क पर बेहतर पकड़ बनाए रखता है. पूरी दुनिया में 200 मिलियम टायर्स हर साल समय से पहले खराब हो जाते हैं जिसकी वजह पंचर होना, रोड हैज़ार्ड्स से होने वाला नुकसान और अपर्याप्त हवा है जो टायर को खराब करते हैं. यह टायर दोनों कंपनियों के किए वादे के मुताबिक वाकई ग्राहकों को ज़्यादा टिकाउ और सुरक्षित हैं. इस टायर्स की कीमत निश्चित ही अधिक होगी लेकिन हमें ये देखना है कि उत्पादन तक पहुंचते इस टायर की कीमत कितनी होने वाली है.

Be the first one to comment
Thanks for the comments.