भारत में नई बाइक और कारें

मर्सडीज़-बैंज़ इंडिया ने पार किया 1,00,000 वाहन बनाने का आंकड़ा, जानें कब हुई थी एंट्री

मर्सडीज़ भारत में बहुत किस्म की कारों को असेंबल करती है और कंपनी ने जो 1,00,000वी कार प्लांट से बाहर भेजी है वो देश में पसंद की जाने वाली ई-क्लास है.

फोटो देखें
मर्सडीज़-बैंज़ इंडिया देश में CLA, C, E और S-क्लास सिडान बनाती है

Highlights

  • मर्सडीज़-बैंज़ भारत की पसंदीदा और सबसे बड़ी लग्ज़री कार कंपनी है
  • मर्सडीज़-बैंज़ इंडिया देश में CLA, C, E और S-क्लास सिडान बनाती है
  • मर्सडीज़ इंडिया भारत में GLA, GLC, GLE और GLS SUV असेंबल करती है

भारत में मर्सडीज़-बैंज़ इंडिया की शुरुआत 1994 में हुई थी और अब कंपनी भारत में सबसे ज़्यादा लग्ज़री कारें बनाने का आकड़ा पार कर चुकी है. मर्सडीज़ ने हाल ही में देश में 1,00,000वीं प्रोडक्शन यूनिट का माइलस्टोन तय कर लिया है. मर्सडीज़ भारत में बहुत किस्म की कारों को असेंबल करती है और कंपनी ने जो 1,00,000वी कार प्लांट से बाहर भेजी है वो देश में काफी पसंद की जाने वाली ई-क्लास है. यह मर्सडीज़ ई-क्लास का ई220डी मॉडल है जो ई-क्लास लाइनअप का भी काफी पसंद किया जाने वाला मॉडल है. कार का यह मॉडल भारत में भी उपलब्ध है और एक्सक्लूसिव  लंबे व्हीलबेस के साथ बेचा जा रहा है. मर्सडीज़ भारत में सी-क्लास, सीएलए-क्लास और रेन्ज टॉप सीरीज़ एस-क्लास स्टैंडर्ड और मायबक में बनाई जाती है.

mercedes e class
मर्सडीज़-बैंज़ E220d

इस मौके पर बात करते हुए मर्सडीज़-बैंज़ इंडिया के मैनेजिंग डायरेक्टर और सीईओ रोलैंड फॉगर ने कहा कि, “मर्सडीज़-बैंज़ का यह 1,00,000वां वाहन ये दर्शाता है कि भारत में लग्ज़री कार ग्राहक हमारे ब्रांड को कितना पसंद करते हैं. 24 साल पहले इस देश में मर्सडीज़ का सफर शुरू हुआ था और उसी वक्त हमने भारत में लग्ज़री कारों को पेश करना शुरू किया था. ग्राहकों ने मर्सडीज़ को शुरू से ही बहुत प्यार दिया और आज हम भारत के लग्ज़री कार सैंगमेंट में सबसे ज़्यादा पसंद किया जाने वाला ब्रांड बन गए हैं. 1,00,000 वाहनों के इस माइल्टोन को स्थापित करने में मर्सडीज़-बैंज़ इंडिया के हमारे कर्मचारियों का भी बहुत बड़ा हाथ है जो हमेशा से हमारे ब्रांड एंबेसेडर बने हुए हैं. यह सफलता ग्राहकों के प्रति कंपनी की तत्परता को भी दिखाती है और मर्सडीज़ आगे भी अपने ग्राहकों को बेहतरीन किस्म के वाहन उपलब्ध कराते रहेगी.”

ये भी पढ़ें : मर्सडीज़-बैंज़ ने देश में लॉन्च की लग्ज़री कार AMG E 63 S 4मैटिक, कीमत ₹ 1.5 करोड़

mercedes e class
1995 में W124 जनरेशन ई-क्लास का पहला सेट बनाया गया था

0 Comments

1994 में मर्सडीज़-बैंज़ ने पहली बार भारत में टाटा मोटर्स के साथ साझेदारी में शुरुआत की थी और 1995 में W124 जनरेशन ई-क्लास का पहला सेट बनाया गया था. W124 जनरेशन ई-क्लास को कंपनी ने पेट्रोल और डीजल दोनों इंजन में उपलब्ध कराया था और कंपनी ने इस इंजन को ऑटोमैटिक और मैन्युअल गियरबॉक्स से लैस किया था, वहीं कार के डीजल इंजन के साथ सिर्फ मैन्युअल गियरबॉक्स दिया गया था. 1995 में पहली कार असेंबल करने के बाद कंपनी ने भारत में सी-क्लास और उसके भी बाद में एस-क्लास की असेंबलिंग शुरू की. अब कंपनी ने देश में जीएलए, जीएलसी, जीएलई और जीएलएस एसयूवी के साथ सीएलए कॉम्पैक्ट सिडान की असेंबली भी भारत में शुरू कर दी है.

Be the first one to comment
Thanks for the comments.