भारत में नई बाइक और कारें

मारुति 2025 से रॉयल्टी के रूप में सुज़ुकी को देगी रुपए, अब येन में नहीं होगा लेनदेन

मारुति ने जापान की पेरेंट कंपनी सुज़ुकी से करार किया है जिसके अनुसार 2025 से रॉयल्टी के रूप में मारुति सुज़ुकी को जापानी मुद्रा की जगह रुपए चुकाएगी.

फोटो देखें
मारुति 2025 से रॉयल्टी के रूप में सुज़ुकी को जापानी मुद्रा की जगह रुपए चुकाएगी

मारुति ने जापान की अपनी पेरेंट कंपनी सुज़ुकी से करार किया है जिसके अनुसार कंपनी 2025 से रॉयल्टी के रूप में मारुति अब सुज़ुकी को जापानी मुद्रा की जगह रुपए चुकाएगी. भारत की सबसे बड़ी कार निर्माता कंपनी नए वाहनों के उत्पादन में बहुत बड़ा किरदार निभा रही है और कंपनी आने वाले 6 साल में आक्रामक रूप से कई नए वाहन बाज़ार में उतारेगी. इनसे सुज़ुकी मोटर कॉर्पोरेशन को येन की जगह रुपए में रॉयल्टी मिलना शुरू होगी. रॉयल्टी का भुगतान रुपए में होने से कंपनी औसत रॉयल्टी दर को 5% पर ला सकती है, तुलना करें तो फिलहाल बिक रहे मॉडल्स पर जापानी मुद्रा येन में 5.6% से 6% रॉयल्टी का भुगतान करना होता था.

maruti suzuki brezza amt

विटारा ब्रेज़ा इकलौती कार है जिसपर मारुति 4% रॉयल्टी का भुगतान सुज़ुकी को कर रही है

विटारा ब्रेज़ा इकलौती कार है जिसपर मारुति 4% रॉयल्टी का भुगतान सुज़ुकी को कर रही है और यह रॉयल्टी रुपए में चुकाई जा रही है क्योंकि इस सबकॉम्पैक्ट SUV का निर्माण भारत में किया गया है. मारुति सुज़ुकी इंडिया के चेयरमैन आरसी भार्गव ने 2017 में इस फैसले की तरफ इशारा किया था. उस समय अपने बयान में आरसी भार्गव ने कहा था कि भविष्य में मारुति बहुत ये नए वाहनों का उत्पादन करेगी और इनमें से जो भी मॉडल्स भारत में डिज़ाइन और डेवेलप किए जाएंगे उनके लिए रॉयल्टी रुपए में चुकाई जाएगी.

ये भी पढ़ें : नई 2019 मारुति सुज़ुकी वैगनआर के टीज़र में सामने आया कार का केबिन

0 Comments

दिसंबर 2018 में मारुति ने भारत स्टेज 4 वाहनों के उत्पादन को 2019 तक बंद करने की घोषणा कर दी है जिसका कारण जल्द लागू होने वाले BS-VI एमिशन नॉर्म्स हैं. कंपनी सामान्य रूप से अपने पूरे कार लाइन-अप के साथ BS-VI इंजन देने के लिए काफी काम कर रही है और इन वाहनों को सुज़ुकी के साथ मिलकर बनाया जा रहा है. मारुति अपन एंट्री लेवल कारों को भी दुरुस्त कर रही है जिससे अक्टूबर 2019 में लागू होने वाले भारत न्यू व्हीकल सेफ्टी असेसमेंट प्रोग्राम पर इन्हें खरा उतारा जा सके.

Be the first one to comment
Thanks for the comments.