भारत में नई बाइक और कारें

मारुति सुज़ुकी वैगनआर रिव्यू : ज़्यादा दमदार और स्टाइलिश हुआ ये ब्रेड बॉक्स!

नए प्लैटफॉर्म से कार ना सिर्फ आकार और केबिन स्पेस में बढी है, बल्की डिज़ाइन और ढांचे में बदलाव किए गए हैं. टैप कर पढ़ें नई वैगनआर का डिटेल्ड रिव्यू...

फोटो देखें
नई जनरेशन वैगनआर आकार में थोड़ी नहीं, काफी बड़ी है

वैगनआर का मॉडर्न, ज़्यादा क्षमता वाला, सुरक्षित और बेहतर तरीके से बनाया हुआ मॉडल भारत में लॉन्च किया गया है और यह सटीक समय था इस कार को लॉन्च करने का और मुझे खुशी है कि नई वैगनआर बाज़ार में आ चुकी है. मेरा कहना है कि इस कार को खासतौर पर भारत के लिए बनाया गया है और जापान के बाज़ार में बिकने वाली वैगनआर की तरह नहीं है क्योंकि हमारे लिए बनाई गई नई जनरेशन वैगनआर आकार में थोड़ी नहीं, कफी बड़ी है. यह सबसे सामान्य बात है क्योंकि मारुति सुज़ुकी ने इस कार को नए हार्टटैक प्लैटफॉर्म पर बनाया है, ये प्लैटफॉर्म स्विफ्ट, इग्निस और कंपनी की बाकी कारों में उपलब्ध कराया गया है. नए प्लैटफॉर्म से यह कार ना सिर्फ आकार और केबिन स्पेस में बड़ी हुई है, बल्की डिज़ाइन और ढांचे में भी बड़े बदलावों के साथ आई है.

sj4viq8o

नई वैगनआर का चेहरा काफी बदल गया है

मैने राजस्थान के उदयपुर में इस कार को चलाकर देखा है और इससे पहले की मुझे इसे चलाने का मौका मिलता, मैं कार के पहले लुक के वीडियो पर आए कमेंट्स और मारुति सुज़ुकी के वैगनआर लॉन्च के ट्विट से बहुत खुश हुआ. जैसा कि मैंने आपको बताया कि नई वैगनआर बेहतन लुक के साथ आई है, ऐसे में पहली बार कार को देखते ही बेहतर महसूस हुआ. पुराने मॉडल से नई जनरेशन वैगनआर की तुलना करना एक बिल्कुल अलग कहानी हो जाती है, क्योंकि पहले आपने कभी गुड लुक्स और वैगनआर को एक लाइन में शामिल होते नहीं देखा होगा.

n49i82k8

कार की झुकती हुई छत और बेहतर जगह पर लगे टेललाइट इसके स्टाइलिश लुक को और स्टाइलिश बनाते हैं

नई वैगनआर का चेहरा काफी बदल गया है और कार का स्टाइल अब नए हैडलैंप क्लस्टर, अगली ग्रिल और सभी प्रकार के मैटल वर्क से काफी ज़्यादा आकर्षक हो गाया है. इसके साथ ही कार की झुकती हुई छत और बेहतर जगह पर लगे टेललाइट इसके स्टाइलिश लुक को और स्टाइलिश बनाते हैं. मुझे यह बात हाईलाइट करनी है कि कार के व्हील्स बहुत छोटे आकार के हैं और बड़े आकार के व्हील्स लगाए जाने पर कार और भी ज़ोरदार लुक में आती. कुल मिलाकर कार का डिज़ाइन मुझे अच्छा लगा और कंपनी ने जिस हिसाब से नई वैगनआर की चौड़ाई का इस्तेमाल किया है वो कार की गुणवत्ता को और बढ़ाता है.

858t1hr

वैगनआर की चौड़ाई का बेहतर इस्तेमाल कार की गुणवत्ता को और बढ़ाता है

मैंने मारुति सुज़ुकी नई जनरेशन वैगनआर के 1.2-लीटर पेट्रोल इंजन के साथ AMT चलाकर देखी है. कार के मैन्युअल और AMT या कहें जो एजीएस दोनों ही गियरबॉक्स 5-स्पीड हैं और ग्राहकों की प्रतिक्रिया के हिसाब से कंपनी ने ज़्यादा दमदार वैगनआर देश में लॉन्च की है. ऐसे में मारुति सुज़ुकी ने इस कार में बाकी कारों से लिया गया K12M इंजन लगाया है और कार लाइन-अप में K10B जोड़ा है. K12M इंजन 82 bhp पावर और 113 Nm पीक टॉर्क जनरेट करने के साथ 21.5 kmpl माइलेज देता है. वास्तव में चलाकर देखने में समझ आता है कि पुराने मॉडल की तुलना में नई जनरेशन वैगनआर कितनी बेहतर है.

ये भी पढ़ें : 2019 मारुति सुज़ुकी वैगनआर में नहीं लगा BS-VI इंजन, पढ़ें BS6 पर कंपनी का जवाब

op1qqbeo

बड़े आकार के व्हील्स लगाए जाने पर कार और भी ज़ोरदार लुक में आती

अमूमन आप नई जनरेशन कार से इतनी उम्मीद तो लगाते ही हैं, लेकिन इस केस में ये बदलाव मामूली नहीं हैं. नई वैगरआर हर तरीके से बेहतर हुई है, चलने में बड़ी कार का फील देती है, ज़्यादा संतुलित है और आरामदायक भी है. कार को चलाने के अलावा पीछे बैठने पर भी यही महसूस होता है कि किसी बड़ी कार में बैठे हुए हैं. चलने में कार काफी संतुलित बनी रही, इंजन भी बेहतर प्रदर्शन करता रहा, लेकिन कार का स्टीयरिंग और बेहतर किया जा सकता था. ज़्याद तेज़ चलाने पर कार का इंजन भी थोड़ ज़्यादा शोर करता है लेकिन कुल मिलाकर नई वैगनआर पर कंपनी ने काफी मेहनत की है.

r32p7r8g

मैंने नई जनरेशन वैगनआर के 1.2-लीटर पेट्रोल इंजन के साथ AMT चलाकर देखी है

AMT की बात करें तो पुराने मॉडल की तुलना में कार का AMT काफी बेहतर हुआ है और विटारा ब्रेज़ की तरह ही वैगनआर AMT काफी स्मूद है. मुझे ये गियरबॉक्स थोड़ा धीमा लगा जिसमें कार का गियर चेंज और ड्राइवर को मिलने वाला रिस्पॉन्स टाइम शामिल है. कार का AMT झिझकता है और अगर आपने थोड़ी जल्दी की तो यह गियरशिफ्ट पोज़िशन बदलने की जगह वहीं रूक जाता है. लेकिन सब यह भी जानते हैं कि ऑटोमैटिक गियरबॉक्स वाली कारों में इन समस्याओं का सामना करना पड़ता है. कहने का मतलब ये है कि बाज़ार में बेहतर AMT उपलब्ध हैं जिनमें से एक नई जनरेशन सेंट्रो में उपलब्ध कराया गया है.

938hurk8

पुराने मॉडल की तुलना में कार का AMT काफी बेहतर हुआ है

कार का इंजन काफी दमदार है और हल्का एक्सेलरेट करने पर ही बेहतर प्रदर्शन करता है, बेहतर माइलेज भी देता है और चूंकि फिलहाल मैने कार का AMT वर्ज़न चलाकर देखा है, मैं मैन्युअल इंजन को चलाकर देखने के लिए काफी उत्सुक हूं. मारुति यहां शातिर निकली और कंपनी ने पुरानी कार में दिया जाने वाला 1.0-लीटर इंजन भी नई जनरेशन वैगनआर के साथ उपलब्ध कराया है जो 67 bhp पावर और 90 Nm पीक टॉर्क जनरेट करता है. ऐसे में इस हल्के प्लैटाफॉर्म पर चलाए जाने से यह इंजन भी अच्छा प्रदर्शन ही करेगा. अच्छी बात ये है कि कंपनी ने कार के 1.0-लीटर इंजन को बेहतर माइलेज वाले AMT ट्रांसमिशन के साथ भी लॉन्च किया है. यह गियरबॉक्स पिछले मॉडल की तुलना में 2 किमी ज़्यादा माइलेज के साथ 22.5 kmpl देता है.

1ljn1opo

कार का इंजन काफी दमदार है और हल्का एक्सेलरेट करने पर ही बेहतर प्रदर्शन करता है,

AMT के बाद अब बारी आती है कार के मैन्युअल 5-स्पीड गियरबॉक्स की जो AMT की तुलना में काफी संतुलित होने के साथ बेहतर गियर शिफ्टिंग के लिए सटीक जगह पर लगाया गया है. हर मैन्युअल और AMT कार में काफी अंतर होता है और नई वैगनआर का मैन्युअल वर्ज़न चलाने में काफी मज़ेदार लगा. कार का गियरबॉक्स इंजन के हिसाब से काफी बेहतर है और ज़्यादा दमदार इंजन मिलने के बाद भी हाईवे पर सरपट दौड़ने वाली कारों में वैगनआर शामिल नहीं हो सकी है. यह एक अच्छी अर्बन फैमिली कार है. जहां यह कार हाईवे पर 90-100 की रफ्तार आसानी से पकड़ लेती है, वहीं इससे ज़्यादा स्पीड पर जाना टेढ़ा काम है. अगर आप इस कार को धैर्यता से ज़्यादा रफ्तार पर ले भी गए तो यह 120-130 किमी की ज़्यादा से ज़्यादा पहुंचाई जा सकेगी.

ये भी पढ़ें : मारुति सुज़ुकी 2019 बलेनो फेसलिफ्ट भारत में लॉन्च, शुरुआती कीमत ₹ 5.45 लाख

891i1pa8

K12M इंजन 82 bhp पावर और 113 Nm पीक टॉर्क जनरेट करने के साथ 21.5 kmpl माइलेज देता है

बहरहाल, इस बात ने मुझे नाखुश नहीं किया है, दरअसल यह कार कोई हाई-स्पीड क्रूज़र के रूप में नहीं बनाई गई है. यह किसी मकसद से बनाई गई कार है और ग्राहकों के हिसाब से देखें तो यह हमेशा से कंपनी की बेहतरीन कारों में एक बनी रही है. इसका मतलब ये नहीं कि मै इस कार की बढ़ाई कर रहा हूं... मैं कहूंगा कि कार की इंजन छमता पर काम किया जाना चाहिए, खासतौर पर कार के 1.2-लीटर वर्ज़न पर. सड़क पर बेहतर ग्रिप के लिए चौड़े टायर्स और बेहतर हैंडलिंग के लिए आरामदायक स्टीयरिंग व्हील दिया जाए जिससे नई जनरेशन वैगनआर एक बेहतरीन कार बने.

5olhc16g

केबिन बिल्कुल रिप्रेश है जो बढ़ी हुई जगह के कारगर उपयोग के साथ आता है

पुराने समय में बहुत से लोग मारुति कारों को टीन का डब्बा बुलाते थे, कई सारे अब भी नई वैगनआर के बारे में ऐसी ही राय बनाकर बैठे हैं. ऐसे में मैं आपको विश्वास दिलाता हूं कि नई कार ऐसी बिल्कुल नहीं है. मैं इतने विश्वास के साथ इसीलिए कह रहा हूं क्योंकि कार को नए बड़े और सुरक्षित प्लैटफॉर्म पर बनाया गया है. हालांकि मेरी बात को साबित करने के लिए अबतक कार का कोई क्रैश टेस्ट रिजल्ट नहीं आया है, लेकिन नई कारों को बनाने की प्रक्रिया मारुति ने खुदकी तरफ से इतनी बदल दी है कि कंपनी नए वाहनों को खुद क्रैश टेस्ट से गुज़ार रही है जो इन-हाउस टेस्ट लैब किए जा रहे हैं. इसके साथ ही कार को आगामी सुरक्षा नियमों पर खरा भी उतरना है जो जल्द लागू किए जाने वाले हैं, ऐसे में कार को पुरानी जनरेशन के मुकाबले बड़ा और बेहतर बनाया गया है.

7p6f0mb8

सबसे पहले कार का बढ़ा हुआ हैडरूम आपको लुभाएगा, लैगरूम से भी आप प्रभापित होंगे

कार के केबिन की बात करें तो नई जनरेशन वैगनआर काफी नई है. केबिन बिल्कुल रिप्रेश है जो बिल्कुल नई अपील वाला है और बढ़ी हुई जगह के कारगर उपयोग के साथ आता है. सबसे पहले कार का बढ़ा हुआ हैडरूम आपको लुभाएगा, लैगरूम से भी आप प्रभापित होंगे. कार के साथ स्टीयरिंग कंट्रोल्स, स्मार्ट इंस्ट्रुमेंट क्लस्टर और बिल्कुल नया टचस्क्रीन इंफोटेनमेंट सिस्टम दिया गया है. वैगनआर के बाद मारुति सुज़ुकी ने बलेनो में इसी हफ्ते स्मार्टप्ले स्टूडियो नाम का यह इंफोटेनमेंट सिस्टम उपलब्ध कराया है. इस एप के ज़रिए आप नेविगेशन, इंटरनेट रेडियो का इस्तेमाल कर सकते हैं, इसमें तीन डिवाइस एकसाथ कनेक्ट और इस्तेमाल की जा सकती हैं जिनमें पहली डिवाइस से नेविगेशन, दूसरी से म्यू़क और तीसरी में इंटरफेस से कॉलिंग की जा सकती है. एप्पल कारप्ले और एंड्रॉइड ऑटो भी इस लिस्ट में शामिल हैं.

ये भी पढ़ें : ₹ 8.76 लाख कीमत पर लॉन्च होगी 2019 मारुति सुज़ुकी बलेनो RS फेसलिफ्ट

0 Comments

कार की पिछली सीट्स काफी आरामदायक हैं और इनमें भी इतना लैगरूम दिया गया है कि आपको यह बहुत पसंद आएगा, हालांकि पिछली सीट में आर्मरेस्ट उपलब्ध नहीं कराया गया है जो खलने वाली चीज़ है. नई वैगनआर की कीमत काफी आकर्षक रखी गई है और कार के 1-लीटर इंजन की कीमत 4 लाख से थोड़ी ज़्यादा है, ऐसे में दूसरा इंजन ऑप्शन मारुति सुज़ुकी का शातिर आईडिया है जिसमें 1.2-लीटर इंजन की एक्सशोरूम कीमत 5.69 लाख रुपए तक जाती है. कंपनी इन कारों के साथ बीएस-6 इंजन अगले साल से मुहैया कराएगी, वहीं मारुति ने नई वैगनआर के दोनों इंजन को ऑटोमैटिक मॉडल में उपलब्ध कराया है जो कंपनी का अच्छा फैसला है.

लेटेस्ट न्यूज़

Be the first one to comment
Thanks for the comments.