भारत में नई बाइक और कारें

मारुति सुज़ुकी ने भारत में बंद की आईकॉनिक SUV की बिक्री, जानें कब लॉन्च हुई थी जिप्सी

मारुति सुज़ुकी ने पहले से ही जिप्सी SUV के उत्पादन को मेड-टू-ऑर्डर आधार पर रखा था और इसके हुलिये में लगभग 3 दशक से कोई बदलाव नहीं किया गया है.

फोटो देखें
जिप्सी SUV के उत्पादन को मेड-टू-ऑर्डर आधार पर रखा था

मारुति सुज़ुकी जिप्सी भारत में एक अलग पहचान वाली SUV है जिसका समय अब पूरा हो गया है. 1985 में पेश की गई मारुति सुज़ुकी जिप्सी का उत्पादन भारत में बंद कर दिया गया है और यह देशी बाज़ार में सबसे लंबे समय तक बेची जाने वाली कारों में एक बनी है. एक आधिकारिक पत्र में मारुति सुज़ुकी ने अपने सभी डीलर्स को जिप्सी के लिए बुकिंग रोकने को कहा गया है. कंपनी ने पहले से ही जिप्सी SUV के उत्पादन को मेड-टू-ऑर्डर आधार पर रखा था और इसके हुलिये में लगभग 3 दशक से कोई बदलाव नहीं किया गया है. विदेशों में इस SUV को जिम्नी के नाम से बेचा गया और 1998 में भारत में जिप्सी की दूसरी जनरेशन को लॉन्च किया गया.

7gc4lhv8

मारुति सुज़ुकी ने जिप्सी के हुलिये में लगभग 3 दशक से कोई बदलाव नहीं किया गया है

मारुति सुज़ुकी ने अबतक जिप्सी को 80 के दशक वाले डिज़ाइन पर ही बेचा है, ऐसे में आगामी सुरक्षा नियमों और क्रैश टेस्ट में कार का खरा उतरना मुश्किल था. इसके साथ ही कार को जल्द लागू होने वाले एमिशन नॉर्म्स पर खरा उतरना आवश्यक था जिसमें मारुति सुज़ुकी जिप्सी असमर्थ है. इसका सीधा मतलब है कि अब मारुति सुज़ुकी की इस आईकॉनिक SUV को भारत में खरीदा नहीं जा सकेगा. आम ग्राहकों के साथ जिप्सी सेना का वाहन भी लंबे समय तक बनी रही है. जिप्सी हमेशा से अपने दमदार इंजन और ऑल व्हील ड्राइव क्षमता के लिए जानी जाती रही है और इसका ग्राउंड क्लियरेंस भी 210mm है जो इसे एक बेहतरीन ऑफरोड SUV बनाता है.

ये भी पढ़ें : 2019 मारुति सुज़ुकी इग्निस मामूली अपडेट्स के साथ लॉन्च, शुरुआती कीमत ₹ 4.79 लाख

maruti gypsy

आम ग्राहकों के साथ जिप्सी सेना का वाहन भी लंबे समय तक बनी रही है

0 Comments

पहली बार मारुति सुज़ुकी जिप्सी को 970cc का F10A चार-सिलेंडर पेट्रोल इंजन के साथ लॉन्च किया गया था जिसे बाद में 1.3-लीटर के चार-सिलेंडर पेट्रोल इंजन से बदल दिया गया. 16-वाल्व वाला यह इंजन 80 bhp पावर और 103 Nm पीक टॉर्क जनरेट करने की क्षमता रखता है और यह इंजन 5-स्पीड मैन्युअल गियरबॉक्स से लैस है. कार के साथ आधुनिक फीचर्स उपलब्ध नहीं कराया जाना भी इसकी बिक्री में कमी का सबसे बड़ा कारण बना. मारुति जिप्सी की दिल्ली में शुरुआती एक्सशोरूम कीमत 6.22 लाख रुपए थी. गौरतलब है कि भारतीय बाज़ार में मारुति 800 और ओमनी के बाद जिप्सी कंपनी का तीसरा उत्पाद थी. बता दें कि वैश्विक स्तर पर सुज़ुकी जिम्नी बाज़ार में आ चुकी है लेकिन भारत में इस SUV के लॉन्च को लेकर कंपनी ने अबतक अपना रूख साफ नहीं किया है.

Be the first one to comment
Thanks for the comments.