भारत में नई बाइक और कारें

मारुति सुज़ुकी ने बढ़ाया प्रिमियम हैचबैक बलेनो का उत्पादन, वेटिंग पीरियड में आएगी कमी

मारुति सुज़ुकी ने कार के वेटिंग पीरियड को देखते हुए यह फैसला लिया है, अब भी अगर मारुति सुज़ुकी बलेनो बुक करते हैं तो आपको लंबा वेटिंग पीरियड दिया जाएगा.

फोटो देखें
पिछले 8 महीनों में बलेनो के उत्पादन में 34% की बढ़ोतरी दर्ज की गई है

मारुति सुज़ुकी ने भारत में बेहद पसंद की जाने वाली अपनी प्रिमियम हैचबैक बलेनो के उत्पादन में बढ़ोतरी की घोषणा की है. कंपनी ने इस कार के वेटिंग पीरियड को देखते हुए यह फैसला लिया है, अब भी अगर आप मारुति सुज़ुकी बलेनो बुक करते हैं तो आपको लंबा वेटिंग पीरियड दिया जाएगा. इसके साथ ही भारत में त्योहारों का सीज़न लगभग शुरू हो चुका है, ऐसे में कंपनी की बिक्री में बढ़ोतरी होगी और कंपनी इस सीज़न का फायदा भी उठा सकेगी. फिलहाल मासिक तौर पर बलेनो की 18,000 यूनिट औसतन बेची जा रही है. मारुति सुज़ुकी इंडिया का कहना है कि पिछले 8 महीनों में बलेनो के उत्पादन में 34 प्रतिशत की बढ़ोतरी दर्ज की गई है.
 
maruti suzuki baleno rear
मासिक तौर पर बलेनो की 18,000 यूनिट औसतन बेची जा रही है
 
मारुति सुज़ुकी बलेनो के उत्पादन में तेज़ी आने पर मारुति सुज़ुकी की मार्केटिंग और सेल्स के सीनियर एग्ज़िक्यूटिव डायरेक्टर आर एस कल्सी ने बताया कि, “लॉन्च के बाद से ही प्रिमियम हैचबैक बलेनो को बहुत ज़्यादा पसंद किया जा रहा है जो हमारी बेहतरीन टैक्नोलॉजी, डिज़ाइन और कस्टमर एक्सपीरियंस की गुणवत्ता को प्रदर्शित करता है. बलेनो के वेटिंग पीरियड में कमी आने की वजह कंपनी का गुजरात प्लांट है जहां पूरी रफ्तार में सालाना 2.5 लाख यूनिट कार उत्पादन का काम शुरू हो चुका है. हमें भरोसा है कि उत्पादन में बढ़ोतरी से हमारे नैक्सा ग्राहकों को बेहतर एक्सपीरियंस मुहैया कराया जाएगा.”

ये भी पढ़ें : मारुति सुज़ुकी एस-क्रॉस का अपडेटेड मॉडल खामोशी से लॉन्च, मिलेंगे ज़्यादा सेफ्टी फीचर्स
 
मारुति सुज़ुकी इंडिया ने पहली बार बलेनो को अक्टूबर 2015 में लॉन्च किया था और इस बात को 3 साल होने वाले हैं, साथ ही कंपनी ने इस कार में कोई भी तकनीकी या कॉस्मैटिक बदलाव नहीं किया है जिसके बाद भी बलेनो इस सैगमेंट की सबसे ज़्यादा बिकने वाली कार है. बता दें कि कंपनी ने अबतक बलेनो की 4.5 लाख से ज़्यादा यूनिट बेच ली हैं. मारुति ने इस मेड-इन-इंडिया कार में 1.2-लीटर पेट्रोन और 1.3-लीटर डीजल इंजन लगाया है. कार का पेट्रोल इंजन 83 bhp पावर और 115 Nm टॉर्क जनरेट करता है, वहीं डीजल इंजन 74 bhp पावर और 190 Nm पीक टॉर्क जनरेट करने की क्षमता रखता है. पेट्रोल इंजन 5-स्पीड मैन्युअल और वैकल्पिक सीवीटी ऑटोमैटिक ट्रांसमिशन से लैस किया गया है.
0 Comments

 

लेटेस्ट न्यूज़

Be the first one to comment
Thanks for the comments.