भारत में नई बाइक और कारें

कोरोना से लड़ाईः महिंद्रा ने महज़ 48 घंटे में तैयार किया वेंटिलेटर का प्रोटोटाइप

जनता कर्फ्यू के दिन आनंद महिंद्रा, अध्यक्ष - महिंद्रा समूह ने घोषणा की थी कि कंपनी कोशिश कर रही है कि वह अपने प्लांट्स में वेंटिलेटर का निर्माण करे.

फोटो देखें
7,500 रुपए से भी कम में बनेगा 5-10 लाख रुपए लागत वाला वेंटिलेटर

इगतपुरी और मुंबई स्थित महिंद्रा प्लांट्स की टीमों ने घातक कोरोनो वायरस से लड़ने के लिए एक वेंटिलेटर प्रोटोटाइप बनाया है. समूह के चेयरमैन आनंद महिंद्रा ने कुछ दिनों पहले इसकी चर्चा की थी और अब सिर्फ 48 घंटों के अंदर कर्मचारियों ने उस आहवान का सकारात्मक जवाब दिया है. टीमों का कहना है कि यह इंटरनेट पर बहुत सारी रिसर्च और वेंटिलेटर के कार्य करने के तरीके के बारे में अधिक जानने के कारण संभव हुआ है. महिंद्रा ग्रुप के चेयरमैन - आनंद महिंद्रा द्वारा ट्विटर पर अब तक टीमें क्या हासिल कर पाई हैं, इस पर एक वीडियो शेयर किया गया है.

विशेषज्ञों के फीडबैक और अधिक रिसर्च के आधार पर टीमें अब 3 और प्रोटोटाइप पर काम करेंगी. ये नए प्रोटोटाइप वज़न में हल्के और साइज़ में ज़्यादा कॉम्पैक्ट होंगे. टीमों का लक्ष्य 2 से 3 दिनों के समय में ये कार्य पूरा करना होगा. महत्वपूर्ण रूप से, आनंद महिंद्रा ने यह भी कहा कि वेंटिलेटर जैसे जीवन रक्षक उपकरण जिनकी कीमत अमोमन 5-10 लाख रुपए के बीच होती है, कंपनी इन्हें 7,500 रुपए से भी कम लागत में बनाएगी.

ये भी पढ़ें : कोरोना महामारीः मारुति सुज़ुकी शुरू कर सकती है वेंटिलेटर्स का उत्पादन, जल्द लेगी फैसला

महिंद्रा एंड महिंद्रा के मैनेजिंग डायरेक्टर डॉ पवन के गोयनका ने यह भी खुलासा किया है कि कंपनी दो बड़े PSU और एक मौजूदा वेंटिलेटर निर्माता के साथ मिलकर काम कर रही है ताकि उन्हें डिजाइन को आसान बनाने और क्षमता बढ़ाने में मदद मिल सके. महिंद्रा की इंजीनियरिंग टीम लगातार उनके साथ काम इस बाबत काम कर रही है.

0 Comments

डॉ गोयनका ने ट्विटर पर यह भी साझा किया कि कंपनी बैग वाल्व मास्क वेंटिलेटर के एक ऑटोमेटेड वर्जन पर भी काम कर रही है. इसे आमतौर पर अम्बु बैग के रूप में जाना जाता है. कंपनी उम्मीद कर रही है कि अगले 3 दिनों में आवश्यक मंजूरी के लिए एक प्रोटोटाइप तैयार हो जाएगा.

कम्पेयर महिंद्रा बोलेरो मौजूदा प्रतिद्वंदियों के साथ