भारत में नई बाइक और कारें

अगस्त 2019 में 2 साल के सबसे निचले स्तर पर पहुंचा मारुति सुज़ुकी का मार्केट शेयर

भारतीय ऑटोमोबाइल बाज़ार में मंदी का दौर लगातार जारी है जिसने इंडस्ट्री के हर पहलू को प्रभावित किया है. इस मंदी से अब सभी निर्माता कंपनियां जूझ रही हैं.

फोटो देखें
मंदी ने इंडस्ट्री के हर पहलू को प्रभावित किया है

भारतीय ऑटोमोबाइल बाज़ार में मंदी का दौर लगातार जारी है जिसने इंडस्ट्री के हर पहलू को प्रभावित किया है. इस मंदी से अब सभी कंपनियां जूझ रही हैं और बिक्री में भारी गिरावट का बड़ा असर मारुति सुज़ुकी पर हुआ है. सोसाइटी ऑफ इंडियन ऑटोमोबाइल मैन्युफैक्चरर्स द्वारा उपलब्ध कराए गए आंकड़ों के हिसाब से अगस्त 2019 में भारत की सबसे बड़ी कार निर्माता कंपनी मारुति सुज़ुकी का मार्केट शेयर अप्रैल 2019 में 53.1% के मुकाबले घटकर 47.4% रह गया है.

अप्रैल से अगस्त 2019 के बीच कंपनी का मार्केट शेयर 2.34% कम हुआ है जिससे ये मार्केट शेयर 49.83% हो गया है. बिक्री के मामले में कंपनी जून 2017 के बाद दो साल के अपने सबसे निचले स्तर पर पहुंच गई है. मारुति सुज़ुकी के चेयरमैन आरसी भार्गव का मानना है कि विटारा ब्रेज़ा पेट्रोल के लॉन्च की कम जानकारी बिक्री में गिरावट की बड़ी वजह है जिससे मार्च 2019 में बिकी 14,181 यूनिट के मुकाबले कंपनी अगस्त 2019 में एसयूवी की 7,109 यूनिट ही बेच पाई है.

ये भी पढ़ें: बिना किसी स्टीकर के दिखी नई मारुति सुज़ुकी S-प्रेसो, 30 सितंबर हो लॉन्च होगी कार

0 Comments

इसका मतलब ये है कि कंपनी के पूरे यूवी सैगमेंट की बिक्री अप्रैल से अगस्त 2019 के बीच 14% गिरी है, इस सैगमेंट में एस-क्रॉस और अर्टिगा भी आती हैं. इसी समय कंपनी के कॉम्पैक्ट कार सैगमेंट की बिक्री 28.8% गिरी है जिसमें अल्टो, वैगनआर, सेलेरियो, स्विफ्ट, डिज़ायरख् बलेनो और इग्निस जैसी कारें शामिल हैं. दूसरी तरफ सिआज़ के साथ कंपनी ने मिड-साइज़ सैगमेंट में 28.5% की गिरावट दर्ज की है.

Compare मारुति सुजुकी रों-प्रेस्सो with Immediate Rivals

Be the first one to comment
Thanks for the comments.