भारत में नई बाइक और कारें

आनंद महिंद्रा ने इस वजह से दी टाटा मोटर्स को बधाई, जानें क्या है वो खास कारण

टाटा मोटर्स को इस कामयाबी के लिए बधाई. मेड-इन-इंडिया कारें किसी से पीछे नहीं और इसे साबित करने के लिए हम जल्द ही टाटा का साथ देंगे - आनंद महिंद्रा.

फोटो देखें
नैक्सॉन ने क्रैश टेस्ट में 17 में से सबसे ज़्यादा 16.6 अंक प्राप्त किए हैं

मेड इन इंडिया कारें अब वैश्विक स्तर पर सुरक्षा के मामले में ध्यान खींचने लगी हैं. हाल में टाटा मोटर्स ने ग्लोबल एनसीएपी क्रैश टेस्ट में नैक्सॉन एसयूवी को भेजा है और इस कार ने परिणाम के रूप में कंपनी को 5 स्टार सेफ्टी रेटिंग दिलाई है. ऐसे में टाटा मोटर्स को भारत ही नहीं पूरी दुनियाभर से बधाइयां मिलना शुरू हो गई हैं और इसी बीच महिंद्रा ग्रुप के चेयरमैन आनंद महिंद्रा ने भी टाटा मोटर्स को ट्वीट करके बधाई दी. आनंद महिंद्रा ने ट्विटर पर बधाई देते हुए कहा कि, “टाटा मोटर्स को इस कामयाबी के लिए बधाई. मेड-इन-इंडिया कारें किसी से भी पीछे नहीं और इसे साबित करने के लिए हम जल्द ही टाटा का साथ देंगे.” बता दें कि महिंद्रा मराज़ो ने भी नैक्नॉन के साथ क्रैश टेस्ट दिया था जिसमें इस कार ने 4 स्टार सेफ्टी रेटिंग हालिस की है.

3ai6uh6g
महिंद्रा मराज़ो ने क्रैश टेस्ट में 4 स्टार सेफ्टी रेटिंग हालिस की है

नैक्सॉन ने इस क्रैश टेस्ट में 17 में से सबसे ज़्यादा 16.6 अंक प्राप्त किए हैं जो भारतीय कार निर्माता कंपनियों के इतिहास में पहली बार हुआ है. यह तब हुआ है जब भारत में विदेशों की कंपनियों ने बाज़ार पर अपना कब्ज़ा सा जमा लिया है. इस क्रैश टेस्ट के दौरान कार को साइड क्रैश टेस्ट से भी गुज़ारा गया जो इस रेटिंग के लिए ज़रूरी होता है. टाटा मोटर्स के एमडी ग्वेंटर बश्चेक ने कार एंड बाइक को बताया कि, “टाटा नैक्सॉन को क्रैश टेस्ट में मिली 5 स्टार रेटिंग उपलब्धि का उदाहरण है और यह कंपनी की आने वाली कारों की गुणवत्ता की ओर इशारा करता है.”

38u45d4k
क्रैश टेस्ट के दौरान कार को साइड क्रैश टेस्ट से भी गुज़ारा गया

टाटा नैक्सॉन में जो एंटीलॉक ब्रेकिंग सिस्टम लगाया गया है वो काफी बेहतर है और फुल चैनल वर्ज़न का है जिससे कार का स्टैंडर्ड वेरिएंट भी टकराव की स्थिति में कार को काबू में रखता है. इसके साथ ही सीटबेल्ट रिमाइंडर भी सामान्य मॉडल के साथ उपलब्ध कराया गया है जो सुरक्षा के लिहाज़ से काफी बेहतर है. पिछले क्रैश टेस्ट की तुलना में इस बार टेस्ट में गई कार का बॉडी शेल और स्ट्रक्चर को समान रखा गया है और कार में सामान्य तौर पर डुअल एयरबैग्स दिए जा रह हैं. बच्चों की सुरक्षा के लिहाज़ से कार को 3 स्टार रेटिंग दी गई है.

ये भी पढ़ें : महिंद्रा मराज़ो को NCAP क्रैश टेस्ट में मिली 4 स्टार रेटिंग, ये हैं MPV के सेफ्टी फीचर्स

0 Comments

फीचर्स की बात करें तो टाटा नैक्सन में 6.5-इंच का टचस्क्रीन इंफोटेनमेंट सिस्टम दिया है. इसके साथ ही कार में एंड्रॉइड ऑटो, टेक्स्ट एंड व्हाट्सएप रीड और रिप्लाइ, वॉइस कमांड और नेविगेशन जैसे कई फीचर्स दिए गए हैं. कार में प्रोजैक्टर हैडलैंप्स, LED DRLs, 16-इंच अलॉय व्हील्स, डुअल एसयरबैग्स, ABS के साथ EBD, आईसोफिक्स चाइल्ड सीट माउंट दिया गया है. टाटा नैक्सन के साथ 1.2-लीटर का 3-सिलेंडर टर्बोचार्ज्ड पेट्रोल इंजन दिया गया है जो 108 bhp पावर और 170 Nm पीक टॉर्क जनरेट करता है. कार के साथ 1.5-लीटर का 4-सिलेंडर टर्बोचार्ज्ड डीजल इंजन दिया गया है जो 108 bhp पावर और 260 Nm टॉर्क जनरेट करता है. कार के इंजन को 6-स्पीड मैन्युअल और 6-स्पीड हईपरड्राइव AMT सिस्टम से लैस किया है.

Compare टाटा नेक्सन with Immediate Rivals

Be the first one to comment
Thanks for the comments.