भारत में नई बाइक और कारें

एम्पियर V48 और रिओ लि-लॉन e-स्कूटर्स भारत में लॉन्च, शुरुआती कीमत ₹ 38,000

ऐम्पियर लगभग 1 साल से इलैक्ट्रिक स्कूटर्स बनाने में पूरी तरह ध्यान लगा रही है जिसमें ई-स्कूटर के हिसाब की तकनीक भी मुहैया कराई जा सके.

फोटो देखें
2008 में एम्पियर ने एंट्री की थी और अबतक 35,000 यूनिट बेच चुकी

Highlights

  • एम्पियर कोयंबटूर आधारित इलैक्ट्रिक वाहन बनाने वाली कंपनी है
  • 2008 में एम्पियर ने एंट्री की थी और अबतक 35,000 यूनिट बेच चुकी
  • एम्पियर ने थ्री-व्हीलर बाज़ार में भी अपनी पूरी रेन्ज लॉन्च कर रखी है

कोयंबटूर की इलैक्ट्रिक वाहन निर्माता कंपनी एम्पियर व्हीकल्स ने भारत में अपनी बिल्कुल 2 इलैक्ट्रिक स्कूटर्स एम्पियर वी48 और रिओ लि-लॉन लॉन्च कर दी है. एम्पियर V48 की कीमत 38,000 रुपए रखी है और रिओ लि-लॉन की कीमत 46,000 रखी गई है. कंपनी ने इन दोनों इलैक्ट्रिक स्कूटर्स के साथ लीथियम-इऑन बैटरी पैक के साथ चार्जर भी मुहैया कराया है. इस इलैक्ट्रिक टू-व्हीलर को खरीदने के बाद जिस्ट्रेशन की कोई ज़रूरत नहीं होगी, क्योंकि इसकी स्पीड अधिकतम 25 किमी/घंटा है. ऐम्पियर लगभग 1 साल से इलैक्ट्रिक स्कूटर्स बनाने में पूरी तरह ध्यान लगा रही है जिसमें ई-स्कूटर के हिसाब की तकनीक भी मुहैया कराई जा सके.
 

ampere scooters
एम्पियर V48 की कीमत 38,000 रुपए रखी है
 
दोनों स्कूटर्स में 250W ब्रशलेस डीसी मोटर लगी है और यह मोटर 48V लीथियम-इऑन बैटरी पैक से लैस है. रिओ लि-लॉन में 120 किग्रा तक वज़न उठाने की क्षमता है, वहीं ऐम्पियर 48V 100 किग्रा तक वज़न उठा सकती हैं. दोनों ही स्कूटर्स को एक बार फुल चार्ज करने पर 65-70 किमी तक चलाया जा सकता है और एम्पियर की मानें तो 4-5 घंटे में यह फुल चार्ज हो जाती है. एम्पियर ने दोनों स्कूटर्स के साथ लीथियम-इऑन चार्जर भी दिया है जिसकी कीमत 3,000 रुपए है. यह चार्जर 2-स्टेज प्रोफाइल पर बनाया गया जिसमें यह स्वतः ही वोल्टेज और करंट को बदल देता है.

ये भी पढ़ें : कर्टिस ज़िअस इलैक्ट्रिक मोटरसाइकल के प्रोटोटाइप से हटा पर्दा, मिलेगा 170 bhp पावर
 
स्कूटर में लगी बैटरी में कंट्रोल और मॉनिटरिंग सिस्टम लगाया गया है जिससे बैटरी को शॉर्ट-सर्किट, हाई टेंपरेचर कट ऑफ से बचाया जा सके. एम्पियर की देश के 14 राज्यों में 150 डीलरशिप हैं. कंपनी का फोकस इस वक्त शहरां और छोटे शहरों पर है. एम्पियर ने भारत में अपनी शुरुआत 2008 में की थी और अबतक कंपनी 35,000 से ज़्यादा वाहन बेच चुकी है. कंपनी ने बेंगलुरु में अपनी रिसर्च एंड डेवेलपमें फैसिलिटी बनाई है और कंपनी यहीं इलैक्ट्रिक मोटर के साथ चार्जर और बैटरी कंट्रोलर बनाती है. कंपनी इन स्कूटर्स के लिए ताइवान और चीन से बैटरी आयात करती है.
0 Comments

 

Be the first one to comment
Thanks for the comments.